कोरोना से मीडिया संस्थान बेहाल, उनकी ही बनाई खबरों से गूगल की चांदी

भले ही दुनिया भर में कोरोना के चलते कारोबार संकट में है और मीडिया संस्थान भी दबाव की स्थिति झेल रहे हैं। इस बीच भी सर्च इंजन गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट ने मोटा मुनाफा कमाया है। 2020 की पहली तिमाही में गूगल के रेवेन्यू में 13 पर्सेंट का इजाफा हुआ है और यह 41.2 अरब डॉलर तक पहुंच गया। भले ही बीते 5 सालों में गूगल के रेवेन्यू की सबसे कमजोर ग्रोथ है, लेकिन दुनिया भर में अन्य उद्योगों के मुकाबले कहीं सुंदर तस्वीर है। कंपनी का ऑपरेटिंग प्रॉफिट 8 अरब डॉलर रहा है। दिलचस्प बात यह है कि गूगल की इस कमाई में न्यूज का भी बड़ा हिस्सा रहा है, जिसे वह खुद जनरेट नहीं करता है, लेकिन तमाम मीडिया घरानों की ओर से तैयार खबरों पर उसे यह कमाई हुई है।

बता दें कि फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया में सरकारों ने गूगल को आदेश दिया है कि वह समाचारों से होने वाली कमाई को मीडिया संस्थानों के साथ भी साझा करे। हालांकि गूगल की ओर से अब तक इस पर कोई जवाब नहीं दिया गया है, लेकिन अकसर मीडिया संस्थानों की ओर से इस बात को लेकर चिंता जताई जाती रही है कि आखिर उनकी मेहनत पर होने वाली कमाई अकेले गूगल के हिस्से ही क्यों लगती है? यदि फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया में गूगल की ओर सरकार के फैसले को मान लिया जाता है तो यह दुनिया में डिजिटल मीडिया के रेवेन्यू सिस्टम में एक बड़े बदलाव की शुरुआत होगा।

Comments

Write A Comment