इंटरनेट पर नए जुड़ने वाले 90 फीसदी पाठक हिंदी के, सिमट रही अंग्रेजी

इंटरनेट पर भाषा के विकास की बात करें तो गूगल की स्टडी बताती है कि 2015 से 2018 के दौरान भारत में 4 करोड़ लोग इंटरनेट से जुड़े हैं। इनमें से 90 फीसदी यूजर ऐसे हैं, जो हिंदी एवं अन्य भारतीय भाषाओं के हैं। गूगल इंडिया की सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर निधि गुप्ता के मुताबिक 2015-16 में हिंदी भाषा के पाठकों में 90 फीसदी का इजाफा हुआ है, जबकि अंग्रेजी के पाठक 19 फीसदी ही बढ़े हैं। यही नहीं गूगल के सभी प्रोडक्ट प्लेटफॉर्म्स पर अंग्रेजी के बाद हिंदी दूसरे नंबर की भाषा है। वह कहती हैं कि अभी गूगल इंटरनेट पर भारतीय भाषाओं के यूजर्स के लिए सेवाओं, सामग्री और उत्पादों की कमी है। गूगल ने भारतीय भाषाओं के लोगों की बढ़ती मांग को समझा है और जल्दी ही इसमें विस्तार किया जाएगा।

न्यू मीडिया के जानकारों के अनुसार इंटरनेट और फिर स्मार्टफोन के आने के बाद अंग्रेजी का पाठक वर्ग सबसे पहले इस माध्यम से जुड़ा। वजह यह थी कि भारत में अंग्रेजी एलीट वर्ग की भाषा थी और उसकी एक सीमा तक जो ग्रोथ होनी थी, सबसे पहले ही हुई। अब अंग्रेजी के पाठक वर्ग के तौर पर जुड़ने वाले लोग वे ही हैं, जो ऐसे परिवारों की नई पीढ़ी हैं या फिर अंग्रेजी शिक्षा प्राप्त युवा हैं।

Comments

Write A Comment